ज़िन्दगी का हमने

ज़िन्दगी का हमने…

Copy Sad Shayari

ज़िन्दगी का हमने एक ही उसूल बना रखा है
के इश्क़ और इबादत को फ़िज़ूल बना रखा है
देती है गम और तोहफ़े में मौत सबको
इसलिए भी चाहत को कसूर-ऐ-रसूल बना रखा है

 ~

Add a Comment