रात कट जायें

रात कट जायें…

Copy Love Shayari

हमारे पास जो आओ तो रात कट जायें,
वफा के गीत सुनाओ तो रात कट जायें।
हमें तो गम के अंधेरो ने आ कर घेरा है,
तुम आ के शमा जलाओं तो रात कट जायें।
तुम्हे अपना बनाऊ दिल में बसाऊ ये हसरते दिल की,
हमें गले से लगाओ तो रात कट जायें।
हमारे लिये शराबख़ाने की कैद नहीं,
अगर नज़र से पिलाओ तो रात कट जायें।
इशारे होते है रोज़ दूर से ही ‘असद’
करीब आ के ना जाओ तो रात कट जायें।

 ~

Add a Comment