नयी हिंदी शायरी, इंसा की कीमत

नयी हिंदी शायरी, इंसा की कीमत…

Copy Hindi Shayari

नफ़रत के बाज़ार में प्यार की अहमियत क्या होगी
बेवफा के लिए वफ़ा की कीमत क्या होगी
जो मरते हो हर पल दौलत-ऐ-शान के खातिर
उस इंसा के लिए एक इंसा की कीमत क्या होगी

 ~

Add a Comment