हिंदी दर्द शायरी, तन्हाई का गागर

हिंदी दर्द शायरी, तन्हाई का गागर…

Copy Dard Shayari

अगर वो दरिया-ऐ-हुस्न रखते है
तो हम भी गम-ऐ-सागर रखते है
वो रखते है अगर दामन में, खंज़र-ऐ-बेवफाई
तो हम भी, तन्हाई का गागर रखते है…!!

 ~

Add a Comment